देश में जहां कुछ लोग ऐशो आराम की जिंदगी जीते हैं तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी  हैं जो दो जून की रोटी के लिए अपने जिस्म की बोली लगवाते हैं जी हां दिल्ली के कुछ इलाके ऐसे हैं जहां पर शादीशुदा महिलाएं अपने जिस्म की बोली लगवाने को मजबूर हैं। हैरान वाली बात तो यह है कि घर वाले ही महिलाओ को सेक्स वर्क करने को मजबूर करते हैं। 

कई वर्षों के चली आ रही परंपरा-

रिपोर्टों की मानें तो धरमपुरा सहित कई इलाकों में रहने वालीं परना कम्युनिटी में यह अजीबोगरीब परंपरा कई वर्षों से चली आ रही है। इस कम्युनिटी में कुछ ऐसी भी महिलाएं हैं जिन्हें कोई काम न मिलने की वजह से ही सेक्स वर्कर बनने के फैसला किया। संबंध बनाते वक्त इनका पति करता है कुछ ऐसा कि ये हो जाती हैं परेशान, जानें क्यों ये महिला पति संग नहीं करना चाहती हैं सेक्स

महिलाओं की पूरी तरह से बदल गई जिंदगी- 

एक महिला का कहना है कि यह काम करने के बाद तो उसकी पूरी जिंदगी ही बदल गई है। उसने अब अपने बच्चों को भी पढ़ाना शुरु कर दिया है। कुछ संस्थाएं इन महिलाओं के लिए आवाज उठा रही है तो कुछ इन्हें मदद भी पहुंचा रहीं हैं। संबंध बनाते वक्त इनका पति करता है कुछ ऐसा कि ये हो जाती हैं परेशान, जानें क्यों ये महिला पति संग नहीं करना चाहती हैं सेक्स

पैसिफिक स्टैंडर्ड की रिपोर्ट में एक महिला की कहानी शामिल की गई है। परना कम्युनिटी की रानी हर दिन 2 बजे घर से प्रॉस्टिट्यूशन के लिए निकलती है और सुबह 7 बजे घर लौटती हैं और फिर का सारा काम उन्हें ही करना पड़ता है। बताया जाता है कि 17 साल की उम्र में इनकी शादी हुई थी। पति की वह दूसरी पत्नी थी। शादी के 2 साल बाद ही उसे प्रोस्टीट्यूट बनना पड़ा। रानी कहती है मैं जानती थी यह होगा यह बहुत सामान्य सी बात है। मैं फैमिली चलाने के लिए यह करती हूं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here