स्मार्टफोन खरीदते समय लोग कैमरे की गुणवत्ता का खास ख्याल रखते हैं. यह उन चुनिंदा खूबियों में से एक है जिन पर ग्राहक जरूर गौर करते हैं. अमूमन लोग कैमरे की गुणवत्ता का आकलन मेगापिक्सल से करते हैं. वह सोचते हैं कि जितने मेगापिक्सल का कैमरा उतनी बेहतर गुणवत्ता और इसी के आधार पर फोन खरीद लेते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि सिर्फ मेगापिक्सल से कैमरे की क्वालिटी का सही अंदाजा नहीं लगाया जा सकता. 

मेगापिक्सल तो अच्छी गुणवत्ता का मानक है ही लेकिन इसके अलावा कैमरे की ऐसी पांच खूबियां होती हैं, जिन पर गौर करके अच्छी गुणवत्ता की फोटो कैद करने की क्षमता का सही आकलन नहीं किया जा सकता. आज हम आपको कैमरे की इन्हीं पांच खूबियों में बारे में बताने जा रहे हैं –

ऑटो फोकस – यह कैमरे से जुड़ी पहली खूबी है. ऑटो फोकस ऑब्जेक्ट को पहचानकर बेहतर तश्वीर खीचने में मददगार होता है

ऑप्टिकल इमेज स्टेबलाइजेशन – जब आप किसी तश्वीर को कैमर कैद करते हैं तो हाथ हिलने की वजह से तश्वीर की गुणवत्ता खराब हो सकती है. ऑप्टिकल इमेज स्टेबलाइजेशन की मदद से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

आईएसओ – यह इमेज क्वालिटी को ओवरऑल ठीक करने का काम करता है और अलग-अलग कंडीशन में अच्छी तश्वीरें ली जा सकती हैं.

अपर्चर – इसकी मदद से कैमरे के अन्दर आने वाली लाइट की मात्रा को कंट्रोल किया जा सकता है.

यूजेब्लिटी – इस फीचर की मदद से चेहरे की हाव-भाव के अनुसार अच्छी फोटो खीची जा सकती है. यह फीचर एलजी, एचटीसी और सैमसंग जैसी कुछ कंपनियों के स्मार्टफोंस के साथ आता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here