गंगा नदी की अविरलता बनाए रखने के लिए बिहार की राजधानी पटना में शनिवार को दो दिवसीय सम्मेलन शुरू हुआ। सम्मेलन का उद्घाटन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया। सम्मेलन में गंगा नदी की अविरलता बनाए रखने, पश्चिम बंगाल में निर्मित फरक्का बांध के कारण गंगा नदी में जमा हो रहे गाद और उससे राज्य में उत्पन्न पर्यावरणीय संकट के विषय पर चर्चा की जाएगी, तथा इस समस्या का समाधान ढूंढ़ने का प्रयास किया जाएगा।   शर्मनाक: कैटरीना के ड्राईवर ने कटरीना के साथ किया वो जिसकी कल्पना कैटरीना ने क्या किसी ने भी नहीं किया था

इस सम्मेलन में गंगा नदी की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि, हिमालय से निकलने वाली मुख्य नदियों से संबंधित विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा गाद प्रबंधन और गंगा नदी की सुरक्षा के लिए योजना, नीति एवं नियमों के क्रियान्वयन पर भी चर्चा की जाएगी।  सलमान से लेकर कटरीना तक, इन बॉलीवुड सेलेब्रिटीज पर लग चुका है टैक्स चोरी का आरोप

सम्मेलन में मैग्सेसे सम्मान प्राप्त राजेंद्र सिंह, पद्मभूषण से सम्मानित पर्यावरणविद चंडी प्रसाद भट्ट, गंगा विशेषज्ञ भरत झुनझुनवाला, गंगा मुक्ति आंदोलन के संस्थापक अनिल प्रकाश सहित देश-विदेश के कई पर्यावरणविद और जानकार हिस्सा ले रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here