तमिलनाडू में सांडो पर काब पाने के लिए लोकप्रिय खेल जलीकट्टू और पशु आहार संगठन पेटा पर प्रतिबंध का मांग कर रहे युवाओं का प्रदर्शन उग्र हो गया है। प्रदेश के अलग-अलग शहरों में युवा विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं मदुरै, चेन्नई और कोयंबटूर में बुधवार को भी प्रदर्शन जारी रहा। 

किस बात को लेकर हो रहा विरोध- 

दरअसल पोंगल त्योहार पर जलीकट्टू आयोजन न हो पाने के कारण ही युवाओं द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने तमिलनाडु में जलीकट्टू के आयोजन पर मई 2014 में रोक लगा दी थी। इसके बाद से ही लोग केंद्र सरकार से जलीकट्टू के आयोजन के लिए जरूरी कानूनी कदम उठाने की मांग कर रहे हैं। पेटा के खिलाफ लोगों की नाराजगी इसलिए है क्योंकि उसकी ही याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला दिया था कि राजधानी में काम करीब करीब बंद हो गया है

यह भी पढ़ें- केजरीवाल ने कहा- ‘मेरी सरकार बनी तो एक महीने में मजीठिया को भेजेंगे जेल’

युवा कर रहे विरोध प्रदर्शन- 

चेन्नई की एआरएम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने भी प्रदर्शन के समर्थन कर रहे हैं छात्रों ने प्रदर्शन के समर्थन में अपने संस्थान के बाहर भी विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की है। दरअसल चेन्नई में हजारों की संख्या में युवाओं द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है।

कई जगह हो रहा है विरोध प्रदर्शन- 

तमिलनाडू में कई जगह विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है हजारों की संख्या में युवाओं द्वारा विरोध किया जा रहा है। प्रदर्शनकारियों ने काले कपड़े पहनकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की है साथ ही वकीलों ने भी अदालत के बहिष्कार करने की घोषणा की है। हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी मरीना बीच पर इकट्ठा हुए हैं।

यह भी पढ़ें- जवान तेजबहादुर की पत्नी ने सरकार से CBI जांच की लगाई गुहार, सेना पर लगाये गंभीर आरोप

राज्य सरकार से हो रही बातचीत- 

राज्य सरकार प्रदर्शनकारियों से बाचचीत की है सरकार ने सांडो पर काबू पाने के लिए जुड़े इस खेल को आयोजित करवाने की प्रतिबद्धता को आश्वासन दिया है सरकार ने प्रदर्शनकारियों से कहा है मामले में बातचीत करके अध्यादेश लाने की मांग की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here