चाइनीज कंपनियों ने अपने जबरदस्त फीचर और सस्ते दामों वाले स्मार्टफोन से भारत में अपनी तगड़ी पहचान बना ली हैं, लेकिन अब खबर है कि सीमा पर चल रहे तनाव की वजह से सरकार को संदेह है बाजार में मौजूद चाइनीज कंपनियां कस्टमर्स के डेटा को चुराकर किसी दूसरे देश को बेच रही हैं, इसीलिए मोदी सरकार ने मौजूदा चाइनीज कंपनियों ओप्पो, वीवो, शियोमी और जियोनी समेत 21 कंपनियों पर नोटिस जारी की है. सिर्फ मेगापिक्सल से नहीं होती अच्छे कैमरे की पहचान, स्मार्टफोन खरीदने से पहले जरूर परखें ये पांच खूबियां

चाइनीज कंपनियों पर कार्यवाई

दरअसल, सरकार को डर है कि कहीं चाइनीज कंपनियां देश में स्मार्टफोन यूजर्स के डेटा को चुराकर किसी अन्य देशों को तो नहीं बेच रही हैं. इसी शक को दूर करने के लिए भारत सरकार ने 21 से अधिक चाइनीज कंपनियों को नोटिस जारी कर सवाल पूछे हैं कि यूजर्स के डेटा को सुरक्षित रखने के लिए कंपनियों ने अपने स्मार्टफोन में क्या इंतजाम किये हैं. बता दें कि सभी कंपनियों को इस सवाल का जवाब 28 अगस्त तक सरकार को देनी है.

इन कंपनियों को भी मिली है नोटिस 

इसके अलावा नोटिस पाने वाली कंपनियों में सैमसंग, एप्पल और माइक्रोमैक्स भी शामिल हैं. बता दें कि अगर किसी स्मार्टफोन कंपनी द्वारा अनियमितता देखी जाती है तो उसे जुर्माना द्वारा दंडित किया जायेगा. इसके साथ यह भी बताना जरूरी है कि ऐसा कदम उसी समय उठाया गया है जब डोकलाम मामलों में भारत और चीन विवादों में घिरे हैं. LG ने पेश किया बजट स्मार्टफोन, फीचर्स जानकार हो जायेंगे दीवाने

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here