अरब देशों के एक फैसले के बाद क़तर में जैसे प्रलय सी आ गई है. चारो तरफ हाहाकार मच गया है. लोगों में खाने को लेकर झड़प होनी शुरू हो गई है. लोग एक दूसरे के साथ मारा- मारी करने पर उतर आये हैं . दरअसल सोमवार सुबह अरब देशों की तरफ से एक फरमान आया जिसके बाद क़तर में सभी जगह खाने की किल्लत शुरू हो गई. अरब देशों ने क़तर में खाद्य पदार्थ भेजने पर रोक लगा दी, जिसके बाद क़तर में सभी दुकानों में नाकाबंदी सी हो गई. अगर आप भी करते है शेयर मार्केट में इन्वेस्ट तो यह खबर आपके लिए

दरअसल क़तर एक ऐसा देश है जो अपने तेल उत्पादन के लिए जाना जाता है. लेकिन यहाँ पर लोगों के भोजन का सारा समान अरब देशों से आयत होता है. कतर तेल के कुओं की बहुतायत वाला एक छोटा सा देश है. इस देश का ज्यादातर हिस्सा रेगिस्तान है, जहां खेती नहीं की जा सकती. कतर अपने देश की 99% खाद्य सामग्री के लिए दूसरे देशों पर निर्भर रहता है. कतर की 22.4 लाख की आबादी पर इस नाकाबंदी का प्रभाव दिखने लगा है. खुल गया बाहुबली प्रभास की फिटनेस का ये टॉप सीक्रेट, डायरेक्टर राजमौली ने अब किया खुलासा

क़तर में खाने पिने का 80% हिस्सा बड़े खाड़ी देशों से आता है. जिस तरह से उसकी सीमाओं को बंद कर दिया गया है उसके बाद क़तर में खाने का संकट पैदा होने वाला है. यह बहुत भयावह हो सकता है. संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब ने कतर में चीनी के निर्यात पर भी रोक लगा दी है. अभी रमजान का महीना चल रहा है. इस महीने में चीनी की खपत वैसे भी बढ़ जाती है. ऐसे में लोगों पर इसका असर लाजमी है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक सऊदी अरब के बार्डर पर कई ट्रक खाघ पदार्थो से भरा खड़े हुए हैं. जिनको क़तर में जाना था, लेकिन अरब देशों की तरफ से रोक लगाये जाने के बाद इसे क़तर के बार्डर पर ही रोक दिया गया है. इससे अब क़तर में खाने का बहुत बड़ा संकट पैदा होने वाला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here