क्रिकेट के खेल को आंकड़ो का खेल कहा जाता हैं. क्रिकेट का कोई मैच खेला जा रहा हो और रिकार्ड्स ना बने ऐसा भला कैसे हो सकता हैं. एक सीधी और सरल भाषा में कहा जाए, तो क्रिकेट और रिकार्ड्स एक दूसरे के पर्यायवाची हैं. किसी मैच में रिकार्ड्स बनते हैं, तो किसी मुकाबलें में अनगिनत रिकार्ड्स को टूटते हुए देखा जाता हैं.

मौजूदा समय में टी ट्वेंटी क्रिकेट को एकदिवसीय और टेस्ट क्रिकेट से कई गुणा ज्यादा पसंद किया जाता हैं. टी ट्वेंटी क्रिकेट की लोकप्रियता भी देखते ही बनती हैं. भारतीय टीम का भी टी20 क्रिकेट में खासा दबदबा रहा हैं. एक समय हुआ करता था, जब टी ट्वेंटी क्रिकेट को सिर्फ बल्लेबाजो का खेल समझा जाता था, लेकिन अब गेंदबाज भी इस खेल में अपनी चमक बिखरते हुए नजर आते हैं.

इस लेख के माध्यम से हम आपको एक ऐसा रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपको शायद ही पहले कभी पता होगा. आज हम आपको T-20I के एक ऐसे अद्दभुत रिकॉर्ड के बारे में बतायेगे, जिससे आज तक शायद ही परिचित हो. हम आपको उन भारतीय गेंदबाजो के बारे में बतायेगे, जिन्होंने अपने करियर की पहली ही गेंद पर T-20I विकेट हासिल की थी…


                    आइये डालते हैं, एक नजर उन चुनिन्दा भारतीय गेंदबाजो के नाम पर :-

अजित अगरकर 

अजित अगरकर का नाम भारत के दिग्गज और चैंपियन खिलाड़ियों की लिस्ट में शुमार हैं. अजित अगरकर ने देश के लिए लगभग 10 सालों तक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला. अजित अगरकर T-20I में भारतीय टीम के लिए अपनी पहली ही गेंद पर विकेट हासिल करने वाले देश के पहले गेंदबाज हैं.

अजित अगरकर ने यह उपलब्धि दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज हर्शल गिब्ब्स को आउट कर हासिल की थी. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच यह मुकाबला 1, दिसम्बर 2006 को जोहान्सबर्ग में खेला गया था. जहाँ अगरकर ने अपने करियर की पहली ही गेंद पर गिब्ब्स {7} को सुरेश रैना के हाथो कैच आउट करवाया था.

टीम इंडिया यह मुकाबला 6 विकेट से जीतने में सफल रही थी. आप सभी की जानकारी के लिए बता दे, कि भारतीय टीम का यह सबसे पहला T-20I मैच था.


प्रज्ञान ओझा 

इस सूची में अगला नाम टीम इंडिया के लेफ्ट आर्म ऑर्थोडॉक्स स्पिनर प्रज्ञान ओझा का आता हैं. 31 वर्षीय प्रज्ञान ओझा ने अपने टी ट्वेंटी अंतर्राष्ट्रीय करियर क आगाज साल 2009 के वर्ल्ड टी20 के दौरान किया था. ओझा ने अपना पहला मुकाबला पड़ोसी देश बांग्लादेश के विरुद्ध खेला था.

दोनों टीमों के बीच यह मुकाबला ट्रेंट ब्रिज के मैदान पर खेला गया था. जहाँ प्रज्ञान ओझा ने अपने करियर की पहली ही गेंद पर दिग्गज बांग्लदेशी ऑल राउंडर शाकिब अल हसन को आउट किया था. ओझा ने शाकिब अल हसन {8} को टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के हाथो कैच आउट करवाया था.

भारतीय क्रिकेट टीम यह मैच 25 रनों से जीतने में सफल रही थी और इस मैच में मात्र 21 रन देकर चार विकेट लेने वाले प्रज्ञान ओझा को ‘मैन ऑफ़ द मैच’ का पुरुस्कार भी मिला था.


विराट कोहली 

सूची में अगला और सबसे अंतिम नाम टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान विराट कोहली का आता हैं. जी हाँ ! विराट कोहली का… आप सभी यह नाम सुनकर एकदम चौक गये होगे, लेकिन यह एकदम सही हैं. विराट कोहली भी अपनी पहली ही गेंद पर करियर की सबसे पहली T-20I विकेट ले चुके हैं.

यह मैच भारत और इंग्लैंड के बीच 31, अगस्त 2011 को मेनचेस्टर के मैदान पर खेला गया था. इस मैच में विराट कोहली को भी गेंदबाजी करने का मौका मिला था और उन्होंने अपनी पहली ही गेंद पर दिग्गज खिलाड़ी केविन पीटरसन को आउट किया था.

कोहली ने अपनी इस गेंद पर पीटरसन को एमएस धोनी के हाथों स्टंप आउट करवाया था. इस विकेट की सबसे खास बात तो यह थी, कि विराट कोहली ने अपनी यह विकेट एक वाइड गेंद पर हासिल की थी.


Note: {अभी तक T-20I में कुल 15 बार ऐसे मौके आये हैं, जब किसी गेंदबाज ने अपने करियर की पहली ही गेंद पर विकेट निकाली हो}

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here