भारतीय टीम के धाकड़ बल्लेबाज रोहित शर्मा हाल ही में गौरव कपूर के टाॅक शो ब्रेकफास्ट विथ चैम्पियन में नजर आए,इस दौरान उनकी वाइफ रितिका सजदेह भी मौजूद थे। क्रिकेट फैन्स के बीच बेहद लोकप्रिय इस शो में रोहित शर्मा ने क्रिकेट के इतर कई बातों का खुलासा किया।

हिन्दी बोलने में रहा था बचपन से कुछ ऐसा

टाॅक शो ब्रेकफास्ट विथ चैम्पियन में जब गौरव कपूर ने उनके हिन्दी जानने को लेकर सवाल किया तो रोहित शर्मा ने मुस्कुराते हुए जवाब देते हुए कहा कि,‘बचपन से मैं मुम्बई में रहा हू। ऐसे में मेरी बचपन में हिन्दी उतनी अच्छी नहीं रही,हालांकि मैं लगातार नार्थ इंडियन और अन्य लोगों के टच में रहकर काफी अच्छी हिन्दी बोलने लगा।’

कोच शास्त्री के हिन्दी लहजे को लेकर ली चुटकी

इसके अलावा भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री के हिन्दी बोलने के लहजे पर चुटकी लेते हुए कहा कि,‘जब भी रवि शास्त्री हिन्दी बोलते है, तो आप देखकर तुरन्त ही समझ जाएंगे,कि उनकी हिन्दी कैसी है।’

वहीं अपनी वाइफ रितिका के बारे में खुलासा करते हुए कहा कि,‘मेरी धर्मपत्नी पंजाब की है। ऐसे में उसकी हिन्दी भी काफी शानदार है।’

बताया अपने क्रिकेट करियर का टर्निंग प्वाइंट

जब गौरव कपूर ने उनके क्रिकेट करियर के दौरान सबसे बड़ा टर्निग प्वाइंट को लेकर जानना चाहा तो रोहित ने जवाब देते हुए कहा कि,

“मेरे करियर का टर्निंग प्वाइंट टीम इण्डिया का बतौर ओपनर बल्लेबाज बनना रहा, क्योंकि एक सलामी बल्लेबाज को कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। मैनें सीरीज टू सीरीज उन जरुरतों को जाना,जो टीम के लिए अपना शत-प्रतिशत देने की कोशिश करने लगा।”

धोनी ने बना दिया ओपनर बल्लेबाज

रोहित शर्मा ने उस दिन को याद किया कि,जब उन्हें पहली बार टीम इण्डिया की तरफ से उस समय के भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने ओपनिंग करने के लिए भेजा गया। उस दौरान उनके साथ बल्लेबाजी करने मुरली विजय आए थे। इसको लेकर रोहित ने खुलासा करते हुए कहा कि, “पहली बार जब माही भाई ने ओपनिंग करने का मौका दिया तो मै मौके को अपने हाथ से गँवाना नहीं चाहता था। इसके लिए मैने अपने बल्लेबाजी पर पूरा काम किया। मैंने उस दौरान यह नहीं सोचा कि मुझे 50 या 100 रन बनाने है, बल्कि सिर्फ अपने बल्लेबाजी पर फोकस रखकर सामने से आती हुई गेंद पर बनाए रखना है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here