आईपीएल की सबसे सफल टीमों में से एक कोलकत्ता नाइट राइडर्स एक टीम हैं. हाल में ही बीसीसीआई ने आईपीएल के आने वाले सत्र को लेकर नये नियम की घोषणा की हैं. आने वाले सत्र में सभी टीमों अपने सिर्फ तीन खिलाड़ियों को ही रिटेन कर सकते है. जिसमे वो सिर्फ एक ही विदेशी खिलाड़ी को रिटेन कर सकते है, वही सिर्फ 2 ही खिलाड़ियों भारत के रिटेन कर सकती हैं. ऐसे में हम आज आप को बताएँगे, उन तीन खिलाड़ियों के बारें में जिसे कोलकत्ता आने वाले सत्र में रिटेन कर सकती हैं.

गौतम गंभीर 

आईपीएल का भाग्य बदले में सबसे बड़ा हाथ गौतम गंभीर का ही रहा हैं. शुरूआती तीन सत्रों में कोलकत्ता की टीम एक बार फिर  भी सेमीफाइनल में जगह नही बना सकी थी, लेकिन गौतम गंभीर को कमान मिलते ही टीम का भाग्य ही बदल गया. उनकी कप्तानी में ही कोलकत्ता ने पहली बार आईपीएल में सेमीफाइनल में जगह बनाई थी. इसके अलावा उन्ही कप्तानी में कोलकत्ता पहली बार चैंपियंस लीग में जगह बनाई थी. गौतम गंभीर की ही कप्तानी में कोलकत्ता ने तीन बार प्लेऑफ में जगह बनाई हैं,जबकि 2 बार चैंपियन बनी हैं.

कप्तानी में बेहद शानदार रिकॉर्ड रखने वाले गौतम गंभीर का रिकॉर्ड बल्ले से भी बेहद शानदार रहा हैं. गौतम ने हमेशा से ही आगे आ कर टीम की अगुवाई की है.वो कोलकत्ता की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं. इसके अलावा गौतम गंभीर की कप्तानी में ही कोलकत्ता ने लगातार 14 मैचों में रिकॉर्ड जीत हासिल की हैं.ऐसे में कोलकत्ता की टीम एक बार फिर से गौतम गंभीर को अपनी टीम में रिटेन कर सकती हैं.

सुनील नरेन 

सुनील नरेन 2011 की CLT लीग की वजह से कोलकत्ता टीम की नज़र में आए थे. जिसके बाद उन्हें 2012 में कोलकत्ता टीम ने अपनी टीम से जोड़ा था. अपने पहले ही सत्र में उन्होंने सबसे ज्यादा विकेट हासिल किये थे. उन्होंने इस सत्र में 24 विकेट हासिल किये थे, इस दौरान उन्होंने सिर्फ 5.47 के औसत से ही रन दिए थे.

उनकी इस प्रदर्शन की वजह से प्लेयर ऑफ़ टूर्नामेंट भी मिला था. सुनील नरेन कोलकत्ता की सफलता का एक कारण भी हैं. गौतम गंभीर  को जब कभी भी विकेट या रन रोकने की जरूरत होती है तो वो हमेशा ही सुनील नरेन के पास जाते हैं. और बेहद कम मौके पर ही सुनील नरेन उन्हें निराश करते हुए नजर आते हैं.

सुनील नरेन कोलकत्ता की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ भी हैं.उन्होंने कोलकत्ता की तरफ से खेलते हुए 82 मैचो में 95 विकेट हासिल किये हैं. इस दौरान उन्होंने सिर्फ 6.32 के इकॉनमी से रन दिए हैं. इसके अलावा उन्होंने 6 बार 4 विकेट और 1 बार 5 विकेट हासिल किये हैं.

रॉबिन उथप्पा 

रॉबिन उथप्पा कोलकत्ता के लिए एक बेहद महत्वपूर्ण खिलाड़ी रहें हैं. 2014 में उथप्पा न केवल टीम की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ थे, बल्कि इस सीजन में भी सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे. उनकी बल्लेबाज़ी की दम पर कोलकत्ता ने पहली बार आईपीएल की ट्राफी को अपने नाम किया था.

उनके बल्लेबाज़ी क्रम से टीम को एक ऐसा बल्लेबाज़ मिलता है, जो अच्छी शुरुआत को एक बड़े स्कोर में बदल सकता है. इसके अलावा जरूरत पड़ने पर टीम का रन रेट बढ़ा सकता हैं.

उथप्पा ने कोलकत्ता की तरफ से अभी तक 58 मैचों में 1806 रन बनाए हैं. ऐसे में कोलकत्ता उनके शानदार रिकॉर्ड को देखते हुए आने वाले सत्र में उन्हें रिटेन कर सकती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here