कई दिनों से देश में चली आ रही कॉल ड्रॉप की समस्या पर दूरसंचार विभाग द्वारा अभी भी बहस जारी है. इसी कड़ी में भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण यानी ट्राई ने इस समस्या को दूर करने के लिए एक बड़ा एलान किया है. इस नए एलान के तहत सभी मानदंडों पर खरा नहीं उतरने वाले मोबाइल ऑपरेटर पर भारी राशि का जुर्माना लगाया जा सकता है. बीएसएनएल ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर किया बड़ा ऐलान, अब यूजर्स को रोमिंग में भी मिलेगा अनलिमिटेड प्लान

ट्राई का बड़ा ऐलान – 

दरअसल, भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण यानी ट्राई ने कॉल ड्रॉप की समस्या से संबंधित नियमों को ज्यादा मजबूत करने के लिए एक बड़ा ऐलान किया है. बता दें कि जो भी टेलिकॉम कंपनी अगर नए शुरू किए गए डीसीआर/कॉल ड्रॉप की दर बेंचमार्क तक पहुंचने में नाकाम साबित होती हैं तो उनके खिलाफ ग्रेडेट फाइनेंसियल डिसइंसेटिव कार्रवाई की जाएगी, जिसके तहत कम से कम 5 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया जा सकता है. इसके अलावा बता दें कि जुर्माने की राशि कंपनी और बेंचमार्क के दूरी पर आधारित होगी.

ट्राई का जुर्माना – 

इसके अलावा बता दें ट्राई के अनुसार अगर दो तिमाहियों तक लगातार कंपनी बेंचमार्क पर सही नहीं होती है तो जुर्माने की रकम डेढ़ गुनी हो जाएगी और दो तिमाही से भी ज्यादा समय में अगर सुधार नहीं होती है तो जुर्माने की राशि दो गुनी भी हो सकती है. खैर, ट्राई द्वारा कॉल ड्रॉप की समस्या को लेकर उठाया गया यह एक ठोस कदम है, उम्मीद है कि इस नए फैसले से टेलिकॉम कंपनियों की सेवाएं जल्द ही दुरुस्त होंगी. ट्राई ने जारी की नई रिपोर्ट, रिलायंस जियो ने जून के महीने में जोड़े इतने लाख यूजर

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here