इस हफ्ते बाजार की चाल घरेलू और वैश्विक व्यापक आर्थिक आंकड़े, वैश्विक बाजारों का रुझान, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) का रुख, डॉलर के खिलाफ रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतें मिलकर तय करेंगे। शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद जनवरी के औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) के आंकड़े जारी किए गए, जिसमें सालाना आधार पर 0.4 फीसदी की गिरावट देखी गई।  सोनम कपूर की ख़ास फ्रेंड इस बॉलीवुड एक्ट्रेस के साथ हुआ ऐसा शर्मनाक कि दुःखी होकर कहा डिलीट कर लुंगी ट्वीटर अकाउंट

अगले हफ्ते दो कंपनियां अपनी-अपनी आईपीओ लेकर आ रही हैं। एवेन्यू सुपरमार्ट्स का 1870 करोड़ रुपये मूल्य का आईपीओ 8 मार्च को खुलेगा और 10 मार्च को बंद होगा। कंपनी ने इसकी कीमत 295 से 299 रुपये प्रति शेयर तय की है। एवेन्यू सुपरमार्ट्स रिटेल चेन डी-मार्ट का संचालन करती है।

दूसरा आईपीओ (शुरुआती सार्वजनिक ऑफर) म्यूजिक ब्रॉडकास्ट लेकर आ रही है जो 6 मार्च को खुलेगी और 8 मार्च को बंद होगी। कंपनी ने आईपीओ के एक शेयर की कीमत 324 रुपये से 333 रुपये तक लगाई है। म्यूजिक ब्रॉडकास्ट रेडियो सिटी नाम का रेडियो स्टेशन चलाती है तथा इसकी प्रमोटर जागरण प्रकाशन है।  श्रद्धा और कटरीना के साथ अफेयर की बातों पर आदित्य ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मैं पर्सनल चीज
वहीं, राजनीतिक मोर्चे पर हाल में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 मार्च को आएंगे, जिनमें उत्तर प्रदेश, गोवा, उत्तराखंड, पंजाब और मणिपुर शामिल हैं। सरकार के कई विधेयक संसद के दोनों सदनों में पारित होने के इंतजार में हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उसके सहयोगी दलों की संसद के निचले सदन लोकसभा की 545 सीटों में से 339 सीटें हैं, जबकि संसद के उच्च सदन राज्यसभा की 250 सीटों में से केवल 73 सीटें उनके पास हैं। ऐसे में इन राज्यों के नतीजे भाजपा के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं ताकि वहां की विधानसभा में संख्या बढ़ाकर राज्यसभा में अपने सदस्यों की संख्या बढ़ा सकें।

वहीं, निवेशकों की नजर संसद के बजट सत्र पर भी रहेगी। क्योंकि समूचा शीतकालीन सत्र हंगामे की भेंट चढ़ गया और सदन में कोई कामकाज नहीं हो पाया। बजट सत्र दो भागों में आयोजित किया जा रहा है। इसका दूसरा हिस्सा 9 मार्च से शुरू हो रहा है जो 12 अप्रैल तक चलेगा। पहला सत्र 31 जनवरी को शुरू होकर 9 फरवरी तक चला था।

वैश्विक मोर्चे पर निवेशकों को अमेरिकी ब्याज दरों में बढ़ोतरी के समय के सुराग का इंतजार है। फेड रिजर्व 14-15 मार्च मौद्रिक नीति की समीक्षा करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here