भारतीय रेल से हर रोज करोड़ों यात्री सफर करते हैं। भले ही रेलगाड़ियों की लेट पहुंचने की शिकायतें कितनी ही क्यों ना हो। मगर आए दिन लेट होती रेल यात्रियों के सफर को और कष्टदायक बनाते हुए भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों को तगड़ा झटका दिया है। हाल ही में रेलवे बोर्ड ने मंडल रेल प्रबंधकों (डीआरएम) को यात्रियों को रेलवे स्टेशन पर मिलने वाली सुविधाओं पर ज्यादा शुल्क वसूलने की इजाजत दे दी है।

रेलवे स्टेशनों पर क्लॉक रूम और लॉकरों का इस्तेमाल करने वाले यात्रियों के लिए एक बुरी खबर आई है। अब इस सुविधा का लाभ उठाने वाले पैसेंजर्स को अपनी जेब और ढीली करनी पड़ेगी। क्योंकि रेलवे स्टेशन पर मिलने वाली सुविधाओं पर ज्यादा शुल्क वसूलने की इजाजत मिलने के बाद रेल प्रबंधकों (DRM) ने क्लॉक रूम और लॉकरों के यूज का शुल्क बढ़ा दिया है।    द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना से जुड़े कुछ ऐसे सीक्रेट्स जिनसे अब तक अनजान होंगे आप

क्लॉक रूम

इन सर्विसिज को इस्तेमाल करने के लिए रेल यात्रियों को आने वाले वक्त में ज्यादा शुल्क देना पड़ेगा। रेलवे 24 घंटे के लिए लॉकर का इस्तेमाल करने के लिए यात्रियों से 20 रुपए का शुल्क लेती है और प्रत्येक अतिरिक्त 24 घंटे के लिए 30 रुपए वसूले जाते हैं। पहले ये शुल्क 15 रुपए था। इसके बाद प्रत्येक अतिरिक्त 24 घंटे के लिए यात्रियों से 20 रूपये लिए जाते थे।

क्लॉक रूम

साल 2000 में ये शुल्क 10 रुपए था जिसे 2013 में बढ़ाया गया था। तब से अब तक क्लॉकरूम और लॉकर के चार्ज में बढ़ोतरी नहीं की गई थी। इसके साथ ही इस सेवा को आधुनिक बनाने के लिए शीघ्र ही नीलामी यानी बोली की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इन सेवाओं को आधुनिक बनाने के लिए की जाने वाली बोली प्रक्रिया में कम्प्यूटरीकृत माल सूची शामिल होगी और हर साल मूल्य बढ़ाने की अनुमति होगी। इस सुविधा को पर्यटक और ट्रेनों के लेट हो जाने के बाद यात्री इस्तेमाल करते हैं। अब देखना ये है कि रेलवे की इस सुविधा को महंगे हो जाने के बाद कितने लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here