प्राचीन यूनान के निवासी कहा करते थे कि इंसान की सांस उसकी ज़िंदगी का आईना होती है. उनकी यह बात काफी हद तक सही भी मानी जाती थी. साँसों से पता चल जाता है कि इंसान ने शराब पी है या धूम्रपान किया है लेकिन आपको बता दें कि ये सभी तो छोटी बातें हैं, इजराइल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने बुजुर्गों की इस कहावत को पूरी तरह से सच साबित कर दिया है.

सावधान: प्रदूषण छीनेगा इतनी जिंदगियां जितनी कि आपने सोची भी ना होंगी!

साँसों से लगेगा कई बीमीरियों का पता…

इजराइल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एक ऐसे यंत्र के आविष्कार के लिए काम कर रहा है जो कि इंसान की साँसों की जांच कर के ही कई गंभीर बीमारियों का पता लगाने में सक्षम होगा. अभी तक यह यंत्र पूरी तरह तैयार नहीं हो पाया है.

इस तरह से करेगा काम…

यह यंत्र साँसों के नमूने की जांच करने के बाद बता सकेगा कि आपको कौनसी बीमारी है. यह कई गंभीर बीमारियों की जांच सिर्फ सांस के सहारे ही कर सकेगा. यह साँसों में मौजूद नैनो-पार्टिकल्स की जांच कर बीमारियों का खुलासा करेगा.

हाई ब्‍लड प्रेशर में किस तरह से करें जिम? जान लें यह सही तरीका!

कैंसर व पार्किन्सन जैसी कई गंभीर बीमारियों की हो सकेगी पहचान…

इस यंत्र के द्वारा कैंसर व पार्किन्सन के अलावा अन्य भी 17 बीमारियों का पता लगाया जा सकेगा. यह यंत्र अभी पूरी तरह से बन नहीं पाया है लेकिन इसको बनाने में जुटे अनुसंधानकर्ताओं का अनुमान है कि यह बीमारियों का उनके शुरूआती चरण में ही पता लगाने में सक्षम होगा.

पहले भी किये जा चुके हैं कई प्रयोग…

आपको बता दें कि साँसों को लेकर पहले भी कई तरह के प्रयोग किये जा चुके हैं लेकिन यह अपनी तरह का अनोखा प्रयोग होगा जब साँसों को लेकर बीमारियों की जांच संभव हो सकेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here