दिवाली का त्यौहार

मुंबई! पूरी दुनिया में दिवाली का त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता है. यह त्यौहार कार्तिक महीने की अमावस्या को मनाया जाता है. इस बार दिवाली का त्यौहार 7 नवंबर 2018 माने जाएगा. ऐसा कहा जाता है कि इस दिन भगवान राम ने बुराई पर अच्छाई की जीत कर अपने घर अयोध्या लौटा है. इस दिन सभी लोग अपने घर के सभी कोनों में दीपक जलाकर मां लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा करते हैं. जिससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहे और धन की वर्षा हो.

दिवाली का त्यौहार

ऐसा भी कहा जाता है कि भगवान कृष्ण ने इसी दिन नरकासुर नामक राक्षस का भी वध किया था. दिवाली सिर्फ एक दिन का पर्व नहीं होता है, दीवाली के पहले और बाद भी कई पर्व मनाए जाते हैं, जिनका अपना एक विशेष और धार्मिक महत्व है. चालिए आज हम आपको बताएंगे उन पर्व के बारे में..

धनतेरस

दीवाली के दो दिन पहले धनतेरस का त्यौहार मनाया जाता है, इस दिन सभी लोग बाजार से कुछ ना कुछ नई वस्तु खरीदकर घर लाते हैं. इस दिन भगवान गणेश और लक्ष्मी माता की मूर्ति खरीदी जाती है, साथ ही घर में सोने, चांदी या स्टील जिसमें आप समर्थ हों इन तीनों धातु में से किसी एक धातु की वस्तु खरीद करते हैं. आपको बता दें इस बार धनतेरस 5 नवंबर को पड़ रहा है.

छोटी दीवाली

छोटी दिवाली धनतेरस के एक दिन बाद होती है.  इस दिन घर में दीपक जलाकर उजाला किया जाता है और किसी भी कोने को अंधेरे में नहीं रखा जाता है. इस बार छोटी दीवाली 6 नवंबर को पड़ रही है.

बड़ी दीवाली

इस दिन को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है. बड़ी दिवाली इस दिन घर में सभी नए कपड़े पहनकर गणेश भगवान और माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं. घर में कई प्रकार के पकवान बनते हैं और पटाखे छुड़ाए जाते हैं.

गोवर्धन पूजा

बड़ी दीवाली के अगले दिन मनाई जाती है गोवर्धन पूजा, इस बार गोवर्धन पूजा 8 नवंबर को पड़ रही है.

भाईदूज

गोवर्धन पूजा के अगले दिन होता है भाईदूज, जिस दिन सभी बहने अपने भाइयों का टीका करती हैं.

दिवाली पूजा शुभ मुहूर्त

दीवाली के दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा तो की जाती है लेकिन इनकी पूजा के लिए एक बात जो ध्यान रखने वाली होती हैं वो होता है पूजा का शुभ मुहुर्त. ऐसा माना जाता है कि इस दिन विधिवत तरीके से और शुभ मुहुर्त में मां लक्ष्मी जी और गणेश भगवान की पूजा करने से जीवन में कभी दरिद्रता नहीं आती और घर में लक्ष्मी का वास रहता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here