अफगानिस्तान एक ऐसा देश जहां लड़के और लड़कियां सभी में धर्म के प्रति बहुत गंबीरता है. यह एक ऐसा देश है जो पूरी दुनिया में अपने इस्लाम धर्म के लिए जाना जाता है. यहां पर लड़कियों के साथ लड़के भी धर्म के प्रति बहुत सजग रहते हैं. इस देश में महिलाओं को नाच गाने में जाना शख्त मन है. इसके साथ ही यहां महिलाएं डांस  कर लोगों का मनोरंजन नहीं करती हैं. इसके लिए छोटे बच्चों को लड़की की तरह कपडे पहना कर नाच गाना करवाया जाता है. इन बच्चों को सेक्स स्लेव के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है.  पाकिस्तानी लड़कियों ने शादी में किया सुपर हॉट डांस, जिसने देखा वह बिना पलक झपकाये देखता ही रह गया!

नशे के आदी होते हैं।

 

बच्चाबाजी के नाम पर योनक्रत्य :

गरीबी की वजह

अफगानिस्तान एक ऐसा देश है जहां पर समाजिक नृत्य में औरतों और लड़कियों पर बैन है. इस काम के लिए छोटे बच्चों का इस्तेमाल किया जाता है. यहां पर मनोरंजन के लिए 10 वर्ष से बड़े लड़कों को इस काम के लिए लड़कियों की तरह तैयार कर के उनसे नाच करवाया जाता है. इसके साथ उनको योनकृत्य के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. इस देश में लड़कियों पर जो धर्म की गंभीरता बताया जाता है, उसके पीछे का असल सच कुछ और ही है.  दरअसल यहां पर लड़कियों की जगह लड़कों को सेक्स स्लेव के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. इनको बुजर्गों की कामुक्ता शांत करने के लिए बेचा जाता है.

क्या है बच्चाबाजी :

सेक्‍सुअल अब्‍यूज

बच्चाबाजी का मतलब होता है ” सेक्स स्लेव” यानी सेक्स गुलाम. जिनका इस्तेमाल लड़कियों की जगह किया जाता है. अफगानिस्तान ही एक ऐसा देश है जहां पर छोटे लडको को बुजुर्गों की योन इच्छाओं को पूरा करने के लिए उनको भेजा जाता है. लड़का जितना सुंदर और जवान होता है उसका रेट उतना ज्यादा होता है. लड़कों को लड़कियों की तरह तैयार करके उनको मार्किट में लोगों की संतुष्टि के लिए दिया जाता है. इसके पीछे एक वजह यहां की गरीबी भी है. अफगानिस्तान बाकी देशों के मुकाबले ज्यादा गरीब है. इसलिए बच्चों को सेक्स स्लेव के तौर पर इस्तेमाल करते हैं. यह बच्चे समाजिक जगह पर नाच गाना करते है और फिर इनको लोग खरेद कर ले जाते हैं. जैसे आम देशों में बार गर्ल यह काम करती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here